Press "Enter" to skip to content

उमा भारती ने हटवाया शराब दुकान पर लगा भगवा झंडा, लगवाए नारे 

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने शराबबंदी की बात फिर छेड़ी है। वे छिंदवाड़ा की एक शराब दुकान पर लगा भगवा झंडा देख भड़क गईं और झंडे को दुकान से हटवाया। उमा भारती के है तेवर देखकर सभी लोग सकते में आ गए हालांकि वे तत्काल भोपाल के लिए रवाना हो गईं।

जानकारी के अनुसार भाजपा नेत्री उमा भारती सोमवार को अचानक छिंदवाड़ा के जाम सांवली स्थित प्रसिद्ध चमत्कारी हनुमान मंदिर पहुंची थीं। उन्होंने बजरंगबली की पूजा अर्चना की और सुख समृद्धि की कामना कर आशीर्वाद लिया। जाम सावली मंदिर में उमा भारती के पहुंचने की खबर लगते ही स्थानीय भाजपा नेता मौके पर पहुंच गए जिन्होंने उनका स्वागत किया। इस दौरान उनके साथ पूर्व मंत्री नाना मोहोड़ सहित स्थानीय भाजपा नेता भी मौजूद रहे।  जाम सावली मंदिर से दर्शन कर लौटते समय अचानक पिपलानारायणवार पहुंचते ही उन्हें सड़क किनारे देसी विदेशी शराब दुकान पर भगवा झंडा दिखाई दिया। उन्होंने कार रुकवाकर और शराब दुकान पर लगे भगवा झंडे को यहां से हटाने के लिए स्थानीय पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए।

उमा भारती ने ट्वीट में लिखा कि मैं अभी सवेरे नागपुर से चलकर मध्य प्रदेश की सीमा पर जाम-सांवली के हनुमान जी के विश्व विख्यात मंदिर में हनुमान जी के दर्शन किए एवं मध्य प्रदेश में होने वाले नगर निकाय एवं पंचायतों के चुनाव में भाजपा की भारी सफलता की कामना की।

उमा ने कहा कि वर्ष 2003 में हनुमान जयंती पर यहीं से हमारी यात्रा सत्ता बदलो, व्यवस्था बदलो प्रारंभ हुई थी एवं हनुमान जी की महती कृपा हम सब पर हुई थी जो आज तक बरकरार है। यह मंदिर महाराष्ट्र एवं मध्य प्रदेश की सीमा पर मध्य प्रदेश में है एक प्रकार से हनुमान जी महाराज यहां पर हमारे दक्षिण दिशा के प्रमुख मार्ग पर विद्यमान हैं इनकी बड़ी महिमा है। इस स्थान का बहुत ही विकास हो रहा है यहां एक गौशाला भी है।

उमा ने कहा कि जाम-सांवली के हनुमान जी के दर्शन करके निकलते ही मध्य प्रदेश के पहले गांव पीपला नारायणवार निकली तो एक जगह सड़क किनारे भगवा झंडा दिखा और भीड़ ने मुझे रोका तो मैं गाड़ी से उतरी तो वह एक देसी विदेशी शराब की दुकान निकली। मैं दुःखी एवं लज्जित हूं कि भगवा ध्वज लगाकर शराब की दुकान खोल ली है, मैंने पुलिस एवं प्रशासन को कार्यवाही करने के लिए कहा है।

उमा भारती ने कहा कि जाम सावली मंदिर से ही दिग्विजय सिंह सरकार हटाने का संकल्प लेकर चुनाव प्रचार शुरू किया था, शराबबंदी का अभियान भी यहीं से शुरू होगा, बोलो सियावर रामचंद्र की जय।

Spread the love
%d bloggers like this: