Press "Enter" to skip to content

कुश्ती कोच कृपाशंकर बिश्नोई का भारतीय खेल प्राधिकरण में आने का रास्ता हुआ साफ 

* नए पहलवानों को करेंगे तैयार 

नई दिल्ली/इन्दौर। फिल्म ‘दंगल’ के लिए आमिर खान और अन्य कलाकारों को कुश्ती के गुर सिखाने वाले इन्दौर के अर्जुन अवार्डी पहलवान कृपाशंकर बिश्नोई ने काफी अटकलों के बाद रेलवे विभाग से भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) में जाने का रास्ता साफ कर दिया है। इसके लिए साई की ओर से रेल विभाग को पत्र लिखा गया था।
पश्चिम रेलवे जीएम मुंबई को लिखे पत्र में कृपाशंकर के संबंध में अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC), सतर्कता मंजूरी और सत्यनिष्ठा प्रमाण पत्र मांगने जेसी सभी कार्यवाही पहले ही पूरी कर ली गई है।
भारतीय खेल प्राधिकरण में कुशल अनुभवी खेल प्रशिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए प्रतिनियुक्त पर साई खेल प्रशिक्षकों को तैनात कर रहा है। साईं ने अन्य विभागों में खेल से जुड़े कुश्ती प्रशिक्षकों को चिन्हित किया है।

चिन्हित प्रशिक्षकों के विभागों को पत्र लिखकर उन्हें डेपुटेशन पर भारतीय खेल प्राधिकरण में भेजने का आग्रह किया था।

इसके पीछे भारतीय खेल प्राधिकरण का मकसद है की देश के विख्यात और अनुभवी कुश्ती खिलाड़ियों व प्रशिक्षको की सेवाएं ले सके, ताकि साई नेशनल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस (NCOE) के अलग-अलग केडरों में चयनित कुश्ती खिलाड़ियों को बेहतर प्रशिक्षण मिल सके।
इसी दिशा में अर्जुन अवार्डी कोच कृपाशंकर बिश्नोई को भी साई में लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
हालांकि कृपाशंकर ने पूर्व में ही हुए साक्षात्कार में सोनीपत साई सेंटर के लिए अपना नाम भेजा था, लेकिन जनवरी 2022 को भारतीय खेल प्राधिकरण ने कृपाशंकर को मुंबई के कांदिवली स्थित साई सेंटर के लिए नियुक्ति पत्र सौंपा था, जिसमें कृपाशंकर ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई।
एक बार फिर भारतीय खेल प्राधिकरण ने कृपाशंकर को अपने पसंदीदा केंद्रों (सोनीपत या लखनऊ) में से किसी एक को चुनने के लिए कहा, जहां कृपाशंकर ने साई सोनीपार के लिए अपनी सहमति दी है।
उम्मीद है कि बहुत जल्द भारतीय खेल प्राधिकरण, सोनीपत के उत्तर क्षेत्रीय केंद्र को फ्रीस्टाइल कुश्ती के लिए एक बेहतर कोच मिलेगा।
Spread the love
More from Sports NewsMore posts in Sports News »
%d bloggers like this: