Press "Enter" to skip to content

भ्रष्टाचार के खिलाफ लोकायुक्त की कार्रवाई : महिला डॉक्टर और उसकी असिस्टेंट रिश्वत लेते रंगेहाथ हुईं ट्रेप, धारा-7 व धारा 120 बी के तहत कार्यवाही जारी

इंदौर। लोकायुक्त  पुलिस ने लेडी डॉक्टर उसकी असिस्टेंट को को रिश्वत लेते हुए किया ट्रेप। लोकायुक्त ऑफिस इंदौर में महेश पिता श्री निवासी ग्राम बीमरोद जिला धार ने शिकायत की थी की चचेरे भाई यशवंत डामर की पत्नी की गर्भवती है।

वह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सरदारपुर की स्त्री रोग विशेषज्ञ, डॉ संगीता पाटीदार से डिलीवरी के लिए मिली लेकिन डॉक्टर डिलीवरी की एवज में 10 हजार रुपए की माँग कर रही हैं। 30 जून  को पीड़ित डामर ने  डॉ संगीता पाटीदार  से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सरदारपुर में मिलकर बातचीत की तो डॉक्टर  ने उससे से 10 हजार रुपये रिश्वत की मांग की।

डामर ने डॉक्टर पाटीदार से  रिश्वत राशि कम करने का रिक्वेस्ट किया। इसके बाद डॉक्टर पाटीदार ने  8 हजार रुपये रिश्वत में लेना तय किया एवं 2 हजार रुपये डामर  से तुरंत ले लिए। 1 जुलाई  आरोपिया डॉ. संगीता पाटीदार ने हॉस्पिटल में खुद  के द्वारा रखी  गयी प्राइवेट सहयोगी सुश्री पूजा बबेरिया, जो कि डॉक्टर के कमरे  में ही बैठी थी को बचे हुए  रिश्वत के पैसे  6000 रुपये दिलवाई ।

डॉ. संगीता पाटीदार एवं सुश्री पूजा बबेरिया को आवेदक से 6000 रुपये रिश्वत राशि लेते हुए रंगे हाथो ट्रेप किया गया है। निरीक्षक आशा सेजकर एवं टीम द्वारा आरोपियों के विरूद्ध भ्रष्टाचार निवारण संशोधन अधिनियम 2018 की धारा-7 एवं भादवि की धारा 120 बी के तहत कार्यवाही जारी है।

Spread the love
More from Crime NewsMore posts in Crime News »
%d bloggers like this: