Press "Enter" to skip to content

15 अगस्त के बाद स्टूडेंट्स को मिलेंगे टैबलेट और शिक्षण सामग्री

– हर जिले से चुने जाएंगे विद्यार्थी, स्मार्ट क्लास तैयार

भोपाल। प्रदेश में अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के मेधावी विद्यार्थियों को एनआइटी और आईआईटी जैसे इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा के लिए तैयार करने का जिम्मा प्रदेश सरकार उठाएगी।
इन बच्चों को टैबलेट और शिक्षण सामग्री भी दी जाएगी। जनजातीय कार्य और अनुसूचित जाति विकास कल्याण विभाग संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) के लिए एससी और एसटी वर्ग के 80 विद्यार्थियों के लिए नि:शुल्क कोचिंग क्लास की सुविधा देने जा रहा है।
ये कोचिंग क्लास 15 अगस्त के बाद भोपाल में शुरू होने की बात कही जा रही है। इसका शुभारंभ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे।

इस कोचिंग क्लास में प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थान मदद करेंगे। सुपर-80 क्लास के लिए 40 अनुसूचित जाति और इतने ही अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों को शामिल किया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक जिले से एक छात्र और एक छात्रा का चयन किया जाएगा।
चयन के लिए 10वीं परीक्षा में मिले प्राप्तांकों को आधार बनाया गया है। इन विद्यार्थियों को दो साल तक राजधानी के कटारा हिल्स स्थित शासकीय हॉस्टल में रखा जाएगा। यहीं कक्षा 11वीं और 12वीं में प्रवेश भी मिलेगा।
हॉस्टल में विद्यार्थियों के रहने की व्यवस्था के साथ ही क्लास रूम की भी व्यवस्था की गई हैं। यहां स्मार्ट क्लास रूम तैयार की गई है। इसमें कोचिंग संस्थान की फैकल्टी बच्चों को जेईई की तैयारियों की बारीकियां सिखाएंगे।

Spread the love
More from Education NewsMore posts in Education News »
%d bloggers like this: