Press "Enter" to skip to content

संसद में महंगाई के मुद्दे पर वित्त मंत्री का जवाब – हां… कीमतें बढ़ी हैं, इससे कोई इनकार नहीं कर रहा…

देश। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में महंगाई पर हो रही बहस के दौरान कहा है कि कोई इस बात से इनकार नहीं कर रहा कि कीमतें बढ़ी हैं। हम भाग नहीं रहे। हमारी महंगाई दर का एक बैंड रहता है, महंगाई दर सात प्रतिशत पर है। सरकार और RBI कोशिश कर रहे हैं कि इसे सात प्रतिशत से नीचे रखा जाए। राज्य सभा में सीतारमण ने कहा हमारे मैक्रो इकोनॉमिक फंडामेंटल मजबूत हैं।

सिर्फ पैकेटबंद खाद्य पदार्थों पर ही 5% जीएसटी

राज्यसभा में बोलते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि गरीबों के उपभोग की किसी खाद्य सामग्री पर कोई टैक्स नहीं लगाया गया है। केवल पैक होकर लेवल के साथ बिकने वाली चीजों पर 5% प्रतिशत का जीएसटी चार्ज लगाया गया है।

पैकेटबंद खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाने का बचाव करते हुए वित्त मंत्री ने सदन में कहा कि इससे पहले भी कई राज्य सरकारों ने खाद्य पदार्थों पर कर लगाए हैं।

सभी राज्यों ने पैकेटबंद खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाने का किया था समर्थन

वित्त मंत्री ने राज्यसभा में बोलते हुए कहा कि जीएसटी काउंसिल की बैठक के दौरान सभी राज्यों ने पैकेटबंद खाद्य पदार्थों पर 5% जीएसटी लगाने के फैसले पर अपनी सहमति दी थी। राज्यसभा में वित्त मंत्री सीतारमण ने यह भी साफ किया कि बैंकों से नकद निकासी पर कोई जीएसटी नहीं है।

अस्पतालों के बेड या आईसीयू चार्ज पर कोई जीएसटी नहीं

राज्यसभा में वित्त मंत्री ने कहा, ‘हमने टमाटर, आलू और प्याज जैसी चीजों की कीमतें नियंत्रित रखने की भरपूर कोशिश की है।’ उन्होंने कहा,’अस्पतालों में बेड और आईसीयू के बिल पर कोई जीएसटी नहीं लगाया गया है। केवल अस्पतालों के 5000 रुपये से अधिक निजी कमरों पर पांच प्रतिशत जीएसटी चार्ज किया गया है। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि प्रचार किया जा रहा है कि शवदाहगृहों पर जीएसटी लगाया गया है, यह बात गलत है। केवल शवदागृहों के निर्माण पर जीएसटी चार्ज किया जाना है।

Spread the love
More from National NewsMore posts in National News »
%d bloggers like this: