Press "Enter" to skip to content

प्रदेश के शहरी एवं पर्यटन क्षेत्रों में यातायात सुगम बनाने हेतु शुरू की जाएगी “रोप-वे” निर्माण योजना

मध्यप्रदेश लोक निर्माण विभाग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग रसद प्रबंधन लिमिटेड के मध्य साइन हुआ एम.ओ.यू

इंदौर .मध्य प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में यातायात को सुगम बनाने के लिए एवं पर्यटकों को बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश में रोपवे निर्माण योजना शुरू की जाएगी। इस योजना को मूल आधार देने के लिए आज केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी तथा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में मध्य प्रदेश लोक निर्माण विभाग तथा भारत सरकार की कंपनी राष्ट्रीय राजमार्ग रसद प्रबंधन लिमिटेड के मध्य एम.ओ.यू साइन किया गया। रोपवे निर्माण हेतु मध्यप्रदेश शासन द्वारा रेलवे स्टेशन से महाकाल मंदिर उज्जैन, रामराजा मंदिर ओरछा, ग्वालियर किला से फूलबाग, कोकता से नादरा बस स्टैंड भोपाल व्हाया गोविंदपुरा, गोल जोड़ तिराहा (कोलार रोड) से न्यूमार्केट भोपाल, रहली पाटन मार्ग से टिकीटोरिया माता मंदिर रहली, मांडू प्रवेश द्वार से रूपमती महल, सिद्धवरकूट जैन मंदिर से राजेश्वर आश्रम ओमकारेश्वर, नर्मदा नदी तट से सेलानी टापू ओंकारेश्वर, रनेहफॉल से केन नदी तट खजुराहो, रायसेन पार्किंग से रायसेन किला, शिव मंदिर पार्किंग से चौरागढ़ शिव मंदिर पचमढ़ी, पातालकोट तामिया तथा अमरकंटक में दूध धारा से कपिल धारा स्थल चयनित किये गये है। एम.ओ.यू साइन करने के पश्चात जल्द ही शासन द्वारा फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार करने हेतु निविदा जारी की जायेगी।
उल्लेखनीय है कि रोपवे निर्माण से ना केवल सस्टेनेबल डेवलपमेंट तथा पर्यावरण संरक्षण पर फोकस करते हुए प्रदेश में ट्रांसपोर्ट का विकास किया जा सकेगा बल्कि इससे न्यूनतम भूमि अधिग्रहण, प्रदूषण नियंत्रण तथा कार्बन फुटप्रिंट कम करने जैसे लक्ष्यों की भी पूर्ति होगी। मध्य प्रदेश लोक निर्माण विभाग की ओर से श्री शशांक मिश्रा और एन.एच.ए.आई. की तरफ से प्रकाश गौड़ ने एम.ओ.यू. पर साइन किए।
Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: