Press "Enter" to skip to content

Sports News – स्‍वतंत्रता दिवस पर टीम इंडिया ने इंग्‍लैंड में फहराया तिरंगा, देखिए ये शानदार VIDEO

भारत इंग्‍लैंड के बीच इस वक्‍त टेस्‍ट सीरीज खेली जा रही है. सीरीज में पांच टेस्‍ट मैच खेले जाने हैं, अभी दूसरा टेस्‍ट चल रहा है. आज इसका चौथा दिन है. इस बीच टीम इंडिया भारत के स्‍वतंत्रता दिवस पर इंग्‍लैंड में है. इंग्‍लैंड में होने के बाद भी टीम ने इंडिया ने भारत के आजादी के पर्व पर वहीं पर भारत का तिरंगा फहराया. कप्‍तान विराट कोहली कोच रवि शास्‍त्री ने झंडा फहराया. इस दौरान टीम के सभी सदस्‍य उनके साथ जो भी मैंबर गए थे, वे भी इस दौरान मौजूद रहे. इससे इंग्‍लैंड में भी भारत का राष्‍ट्रध्‍वज लहराता हुआ दिखाई दिया. खास बात ये है कि उसी इंग्‍लैंड से भारत को आजादी मिली थी, जहां आज तिरंगा शान से लहराता हुआ दिखाई दिया. इससे समझा जा सकता है कि टीम इंडिया के जो भी सदस्‍य वहां मौजूद थे, उसके मन में कितनी अच्‍छी फिलिंग आ रही होगी.

बता दें कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से भारतीय ओलंपिक दल की सराहना की देश से अपील की कि वे इन एथलीटों की उपलब्धियों के लिए उनकी सराहना करें. अपने 88 मिनट के संबोधन में, प्रधानमंत्री ने इस बात का उल्लेख किया कि किस तरह से ओलंपिक ने देश के भीतर सोच को प्रभावित किया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि यह हमारे लिए लिए टर्निंग प्वाइंट रहा. इस दशक में हमने प्रतिभा को लाने, तकनीक पेशेवर करने के लिए तेजी दिखाई. पीएम मोदी ने कहा कि जिन एथलीटों ने टोक्यो ओलंपिक में हमें गौरवान्वित किया, वे हमारे साथ हैं. मैं देश से अपील करता हूं कि उनकी इन उपलब्धियों की सराहना करें. इन्होंने सिर्फ हमारे दिल ही नहीं जीते बल्कि आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित किया है.

उन्होंने भारतीय महिला एथलीटों की उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला. प्रधानमंत्री ने कहा कि यह गर्व की बात है कि भारत की लड़कियां लगातार बेहतर कर रही हैं, चाहे बोर्ड परीक्षा हो या ओलंपिक, लड़कियां हर जगह अव्वल हैं. स्कूली पाठ्यक्रम में खेलों के महत्व पर जोर देते हुए मोदी ने कहा कि एक समय था जब खेलों को मुख्यधारा का हिस्सा नहीं माना जाता था. माता-पिता बच्चों से कहते थे कि अगर वे खेलते रहे तो उनका जीवन खराब हो जाएगा, लेकिन आज खेल फिटनेस के महत्व के बारे में जागरूकता पूरे देश में फैली हुई है. हमने इस बार ओलंपिक में इसका अनुभव किया है. ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा, रजत पदक विजेता मीराबाई चानू, पुरुष महिला हॉकी टीमें, उनका सहायक स्टाफ भारतीय खेल प्राधिकरण के अधिकारी सहित 240 ओलंपियंस प्रधानमंत्री का संबोधन सुनने के लिए लाल किले पर मौजूद रहे.

Spread the love
More from Sports NewsMore posts in Sports News »
%d bloggers like this: