Press "Enter" to skip to content

Dharmik – आर्थिक वृद्धि हेतु शरद पूर्णिमा पर कराएं माँ लक्ष्मी का श्री सूक्त पाठ

शरद पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है। माना जाता है कि शरद पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी रात्रि में विचरण करती हैं और अपने भक्तों पर अपनी कृपा बरसाती है। माता लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है इसलिए जो भी व्यक्ति शरद पूर्णिमा के दिन उनकी पूजा करता है और पूरी रात जागरण करता है उस व्यक्ति को धन की कमी कभी भी नहीं रहती और उसके मन की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है । शरद पूर्णिमा के दिन कोल्हापुर के श्री महालक्ष्मी मंदिर में पूजन करने से अत्यंत लाभ प्राप्त होते है | ऋग्वेद में माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए ‘श्री-सूक्त’ के पाठ और मंत्रों के जाप के साथ हवन करने पर मनचाही मनोकामना पूरी होने की बात कही हैं ।
इस दिन श्री सूक्त, लक्ष्मी स्तोत्र का पाठ करके हवन करना चाहिए। पौराणिक विधि के अनुसार व्रत करने से माता लक्ष्मी अति प्रसन्न होती हैं। घी और तिल का पूजा पाठ में विशेष महत्व होता है। पुराणों के अनुसार इस प्रयोगकर हवन करने से समस्त मनोकामना पूर्ण होती है। साथ ही घर से समस्त नकारात्मक शक्तियां समाप्त हो जाती है।

पूजा के शुभ फल :

  • व्यक्ति धन – धान्य से पूर्ण हो जाता है।
  • कुंडली में चंद्रमा बलवान हो जाता है।
  • जीवन में सुख समृद्धि का आशीर्वाद प्राप्त होता है ।
  • व्यक्ति को यश और वैभव का वरदान प्राप्त होती है।
  • सभी समस्याएं और परेशानियां खत्म हो जाती है
Spread the love

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: