Press "Enter" to skip to content

Indore Nagar Nigam : कोरोना के कारण दो बड़ी सड़कें 2 साल से रुकी, करोड़ों रुपए की लागत से होना था काम

0

 98 total views

इंदौर 28 अप्रैल। शहर में बीते 2 वर्षों से दो बड़ी सड़कों का काम निगम अधिकारियों की लेटलतीफी के चलते लगातार लंबित होता जा रहा है। इन सड़कों के निर्माण के साथ ही बड़े पैमाने पर लोगों को सुविधाएं मिलती लेकिन ऐसा नहीं हुआ है क्योंकि गत वर्ष से ही लॉकडाउन के चलते परेशानी थी और अब एक बार फिर से कब काम की शुरुआत होगी कुछ नहीं कहा जा सकता।

बताया जाता है कि पहले लगभग 2 से 3 करोड़ रुपए की लागत से वार्ड क्रमांक 51 से जुड़ी लगभग 5 सड़कें बनने से औद्योगिक क्षेत्र में परेशानी नहीं होगी लेकिन अब परेशानी लगातार बढ़ती जा रही है । दरअसल वार्ड 51 में उद्योग नगर क्षेत्र में सड़क निर्माण के लिए नगर निगम ने काफी पहले ही टेंडर होकर संबंधित कंपनी को ऑर्डर भी दे दिया था लेकिन वर्क आर्डर बराबर नहीं मिलने से परेशानी बनी हुई थी। औद्योगिक क्षेत्र में जनसहयोग से लगभग 45 लाख रुपये निगम को मिल रहा था और यहां पर उद्योगपतियों ने ही मदद की गुहार की थी।

इसी बीच सड़क का भूमि पूजन भी हो गया और गत वर्ष अप्रैल महीने में टेंडर सहित कई प्रक्रिया पूरी कर ली गई परंतु 1 साल बीत जाने के बाद अभी भी स्थिति वही है की काम नहीं हुआ है। जिंसी रामबाग सड़क का भी यही हाल करीब 100 फीट चौड़ी सड़क के लिए लगभग 200 से अधिक बाधक निर्माण हटाना नगर निगम के लिए एक तरह से चुनौती बना हुआ है जबकि बड़ा गणपति से जिंसी तक सड़क बन गई है।
यह सब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत काम होना है लेकिन अभी तक काम ही नहीं हो पाया है। अब लगातार परेशानी बनी हुई है वैसे सड़क की चौड़ाई को लेकर लंबा विवाद चल रहा था परंतु फिलहाल सड़क का निर्माण होना है लेकिन कब होगा कुछ नहीं कहा जा सकता है। वैसे देखा जाए तो जिंसी से लेकर रामबाग पैट्रोल पंप चौराहे तक सड़क पर यातायात कई घंटों खासकर इमली बाजार क्षेत्र में जाम रहता है। इस तरह की समस्या का एक ही हल है कि सड़क निर्माण .. समय पर हो तो बेहतर होगा। इस मामले को लेकर अधिकारी भी कुछ कहने की स्थिति में नहीं है।

आगे पढ़े

Spread the love
More from इंदौरMore posts in इंदौर »