Press "Enter" to skip to content

म.प्र. में कोरोना का तांडव जारी, 4 मुख्य बड़े शहरों में हाहाकार

0

 92 total views

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। बेड और ऑक्सीजन की कमी सामने आने लगी है। चार बड़े शहरों में ही 24 घंटे में 4511 नए मरीज आए हैं। 24 मौतें हुई हैं, जबकि एक दिन पहले 4136 मरीज आए थे और 21 मौतें हुई थीं। सबसे ज्यादा इंदौर में 1611 नए केस, 6 मौतें और भोपाल में 1497 केस, 4 मौतें हुईं। ग्वालियर में सबसे ज्यादा 9 मौतें हुई हैं और 801 नए केस मिले हैं। जबलपुर में 601 नए केस, 5 मौतें हुई हैं।

प्रदेश के आधे हिस्से में लॉकडाउन किया जा चुका है। इसमें 23 जिले या तो पूरा जिला या शहरी क्षेत्र शामिल हैं। मंगलवार की शाम डिंडौरी, धार, होशंगाबाद, ग्वालियर में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया।

इंदौर के हाल – इंदौर में लगातार दूसरे दिन नए केसों का आंकड़ा 1500 से ज्यादा रहा। 1611 नए केस आए। 6 मरीजों की मौत भी हो गई। यहां एक्टिव मरीज अब 9275 हैं, जबकि कुल मरीज 82597 हैं। पॉजिटिव दर 20.7% है। हालत यह है कि सभी बड़े अस्पतालों में बेड फुल हो चुके हैं। बढ़ते मरीजों की संख्या की वजह से राधा स्वामी सत्संग आश्रम में 500 बिस्तरों का अस्थाई सेंटर तैया किया जा रहा है।

  1. भोपाल के हाल- प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना से स्थिति खराब होती जा रही है। रोज नए केस बढ़ते जा रहे हैं। 24 घंटे में 1497 नए केस आए हैं। 4 की मौतें सरकारी आंकड़े में दर्ज की गई है। जबकि एक दिन पहले 1456 केस आए थे। यहां पर 70 पुलिसकर्मी संक्रमित मिले हैं। अस्पतालों में व्यवस्था कम पड़ने लगी है। ऑक्सीजन की कमी से अस्पताल जूझ रहे हैं।

ग्वालियर के हाल –  ग्वालियर में कोरोना संक्रमण ने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं। 24 घंटे में 3192 सैंपल में 801 नए संक्रमित मिले हैं। इनमें से 72 संक्रमित BSF टेकनपुर के जवान व अफसर हैं। साथ ही 29 जिले के बाहर के मरीज हैं, जबकि 9 लोगों की मौत हुई है। कुल संक्रमित का आंकड़ा 23 हजार क्रॉस कर गया है। कुल मौत का आंकड़ा 349 पर पहुंच गया है।

जबलपुर: 600 से ज्यादा केस आए, किराना दुकानें भी बंद

जिले में मंगलवार को कोरोना ने 600 का आंकड़ा पार करते हुए 602 पर पहुंच गया। इसी के साथ जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 23 हजार से ऊपर पहुंच गई। रिकवरी रेट 84.98 पर आ गया है। एक्टिव केस 3549 हैं। अप्रैल में कोरोना नियंत्रण से बाहर हो चुका है। अब इसी के साथ पाबंदियों भी बढ़ा दी गई है। कलेक्टर ने 15 अप्रैल से शहरी क्षेत्रों में खुल रही किराना की दुकानों को भी बंद करने का निर्णय लिया गया है। किराना दुकानों से सिर्फ होम डिलीवरी ही हो पाएगी।

आगे पढ़े
Spread the love