Press "Enter" to skip to content

इंदौर लोकायुक्त की ट्रैप कार्रवाई : बिजली कंपनी के कनिष्ठ यंत्री और ड्रायवर 40 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के डेली कालेज जोन के कनिष्ठ यंत्री गयाप्रसाद वर्मा और उसके ड्राइवर गयासुद्दीन पिता मोइनउद्दीन को 40 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है।

लोकायुक्त पुलिस के अनुसार कनिष्ठ यंत्री गयाप्रसाद वर्मा ने बिजली चोरी का प्रकरण निरस्तारण करने के मामले में यह रिश्वत मांगी थी। आवेदक आजाद नगर निवासी सुजाद खान ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस को की थी, जिसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने ट्रैप कार्रवाई की।

आवेदक सुजाद के अनुसार मार्च 2021 में एमपीईबी की उड़नदस्ता टीम ने उसके घर में बिजली चोरी का 83000 रुपये का पंचनामा बनाया था। जब साजिद ने यह राशि जमा नहीं की तो लगभग 15 दिवस पूर्व उसके घर की बिजली का कनेक्शन काट दिया।

इसके बाद साजिद ने विजिलेंस कार्यालय में तुरंत प्रभाव से 30 हजार रुपये जमा करवाकर बिजली कनेक्शन चालू करवाया। इस समय आरोपित कनिष्ठ यंत्री गयाप्रसाद ने ड्रायवर गयासुद्दीन के माध्यम से आवेदक सुजाद खान से संपर्क किया और प्रकरण निस्तारण के लिए 40 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की। सुजाद खान ने इस बात की शिकायत पुलिस अधीक्षक कार्यालय लोकायुक्त में जाकर की।

इसके बाद सुजाद कि शिकायत का सत्यापन कराया गया। आवेदक से बातचीत के दौरान आरोपितों द्वारा 40 हजार रुपये में प्रकरण का निराकरण करने की बात तय हुई, जिसकी पहली किश्त 10 हजार के रूप में आज देना तय हुआ।

शेष राशि प्रकरण के निराकरण के बाद देना तय किया गया था। इसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने ट्रैप टीम का गठन किया और मंगलवार को आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। उनके विरूद्ध भ्रष्टाचार निवारण संशोधन अधिनियम 2018 की धारा-7 एव भादवि की धारा 120बी के तहत कार्यवाही अभी जारी है।

Spread the love
More from Crime NewsMore posts in Crime News »
%d bloggers like this: