Press "Enter" to skip to content

इन्दौर में सबसे ज्यादा बिजली मांग दर्ज, जिले में 26 फीसदी ज्यादा बिजली का आपूर्ति 

मालवा-निमाड़ में 381 करोड़ यूनिट बिजली का वितरण ::
इन्दौर। मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने जारी वित्तीय वर्ष के दौरान 16 मई तक कुल 381 करोड़ यूनिट बिजली का वितरण किया है, यह गत वर्ष अप्रैल के 30 व मई के 16 दिनों के दौरान 325 करोड़ यूनिट था। इस तरह गत वर्ष की तुलना में जारी वित्तीय वर्ष की समान अवधि में 56 करोड़ यूनिट बिजली का ज्यादा वितरण हुआ है। बिजली की सबसे ज्यादा मांग लगभग 26 फीसदी इन्दौर जिले में दर्ज हुई है, इसे के अनुपात में आपूर्ति की गई है।
मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने बताया कि इन्दौर जिले में सबसे ज्यादा 26 फीसदी मांग बढ़ी है। इसी तरह आगर व शाजापुर में 20 फीसदी, उज्जैन व रतलाम में 17.50 फीसदी, धार  व मंदसौर में 16 फीसदी, देवास में 15.50,  नीमच में 15 फीसदी,खरगोन में 8.21 फीसदी बिजली की मांग बढ़ी है। मांग के अनुरूप ही बिजली वितरण हो रहा है। कंपनी क्षेत्र में सबसे ज्यादा इन्दौर जिले में 80 करोड़ से ज्यादा यूनिट बिजली का वितरण जारी वित्तीय वर्ष के 46 दिनों के दौरान हो चुका है।
श्री तोमर ने बताया कि मालवा और निमाड़ में औसत 17.27 फीसदी बिजली ज्यादा वितरित हुई है। इन्दौर राजस्व संभाग के आठ जिलों में 231 करोड़ यूनिट और उज्जैन संभाग के जिलों में कुल 150 करोड़ यूनिट बिजली का वितरण जारी वित्तीय वर्ष में अब तक हुआ है।
प्रबंध निदेशक तोमर ने बताया कि आपूर्ति के पर्यवेक्षण के लिए कार्यपालक निदेशक स्तर के अधिकारी गजरा मेहता की टीम और उपभोक्ता संतुष्टि के लिए मुख्य महाप्रबंधक रिंकेश कुमार वैश्य की अगुवाई में टीम सतत क्रियाशील है।
प्रतिदिन 500 उपभोक्ताओं को फोन लगाकर फीडबैक लिया जा रहा है, कंपनी क्षेत्र में उपभोक्ता संतुष्टि का आंकड़ा मप्र में सबसे ज्यादा 99.80 फीसदी है।

Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »
%d bloggers like this: