Press "Enter" to skip to content

दर्जनों मामले है ऐसे, सवाल यह की शासन विस्तृत जांच कब करेगा ?

 232 total views

नर्सिंग कॉलेज की मान्यता के लिए किया फर्जी अस्पताल खड़ा शा. नर्सिग महाविद्यालय के उप प्राचार्य को संभागायुक्त ने किया निलंबित

इंदौर. संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने कृष्णा पिल्लई फैकल्टी (उप प्राचार्य) शासकीय नर्सिंग महाविद्यालय, इन्दौर को अपने पदीय कर्तव्य के प्रति लापरवाही एवं उदासीनता बरतने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश जारी किया है। कृष्णा पिई फैकल्टी ( उप प्राचार्य) शासकीय नर्सिंग महाविद्यालय इन्दौर द्वारा किये गये निरीक्षण के आधार पर मध्यप्रदेश नर्सेस रजिस्ट्रेशन काउंसिल, भोपाल के आदेश के अनुसार आदित्य राज अस्पताल एवं रिचर्स सेन्टर से संलग्न आदित्यराज कॉलेज ऑफ नर्सिंग धार का रजिस्ट्रेशन होना पाया गया। इस संबंध में शिकायत प्राप्त होने पर कलेक्टर धार द्वारा गत 12 जून को गठित जांच दल द्वारा आदित्यराज अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर, कुक्षी का स्थल निरीक्षण कराया गया। स्थल निरीक्षण अनुसार मौके पर आदित्य राज कॉलेज ऑफ नर्सिंग अस्पताल संचालित होना नहीं पाया गया।

भवन में 37 पलंग पाये गये जिनका कोई उपयोग नहीं किया जा रहा था एवं उक्त भवन में स्वास्थ्य संबंधी कोई उपकरण भी उपलब्ध नहीं होना पाया गया। कृष्णा पिल्लई उप प्राचार्य शासकीय नर्सिंग महाविद्यालय, इन्दौर द्वारा किये गये फर्जी निरीक्षण एवं अपने पदीय कर्तव्य के प्रति लापरवाही एवं उदासीनता बरती जाने तथा उनका कार्य सिविल सेवा आचरण नियम के विपरीत पाये जाने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।
ज्ञात हो की ग्वालियर में भी ऐसे फर्जी अस्पताल पाए गए है दरअसल मध्य प्रदेश में नर्सिंग कॉलेज खोलने के लिए स्वयं का 100 बिस्तरों का अस्पताल होना आवश्यक है, ऐसे में नर्सिंग कॉलेज संचालक फर्जी अस्पताल बनाते हैं जो कि कागजों पर होता है जिसका निरीक्षण अधिकारियों से सेटिंग कर करवा लिया जाता है | ऐसे मामले पूरे मध्यप्रदेश में दर्जनों की संख्या में है सवाल यह उठता है कि शासन इस मामले में विस्तृत जांच कब करेगा |

आगे पढ़े

Spread the love
More from Indore NewsMore posts in Indore News »