Press "Enter" to skip to content

ओरछा में रामनवमी पर श्रद्धालुओं के लिए ये खास इंतजाम, गुलजार होगा कंचना घाट

मध्यप्रदेश के ओरछा में रामनवमी पर टीवी कलाकारों द्वारा भव्य मंचन किया जाएगा.
इनमें श्रीराम का किरदार तमिल फिल्मों के अभिनेता सुनील शर्मा, टेलीविजन की ख्यात अभिनेत्री परिधि शर्मा सीता का किरदार निभाएगी.
वहीं टेलीविजन के अभिनेता व गायक देवर्ष नागर लक्ष्मण का और हनुमान का किरदार फिल्म अभिनेता बिंदुदारा सिंह निभाएंगे।

मध्यप्रदेश के धार्मिक नगरी ओरछा की रामनवमी पर टीवी कलाकारों के द्वारा रामलीला का मंचन किया जाएगा.

वेत्रवती नदी के किनारे भव्य रामलीला में मुख्य भूमिका में बड़े टीवी कलाकार होंगे.
मध्यप्रदेश संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित भव्य उपस्थिति में रामनवमी के अवसर पर 4 से 10 अप्रैल तक रोजाना शाम 6.30 बजे से होगा.

ओरछा के बेतवा नदी के तट कंचना घाट पर रामकथा के विविध प्रसंगों की प्रस्तुति दी जाएगी. यह सात दिवसीय लीला प्रस्तुति रंगरेज कला संस्कार उज्जैन द्वारा विशेष रूप से परिकल्पित की गई है.

जिसमें फिल्म और धारावाहिकों से जुड़े लोकप्रिय अभिनेता और अभिनेत्रियों को प्रमुख भूमिका में होंगे. इस पूरी लीला में 90 से अधिक कलाकार अपनी कला का जौहर दिखाएंगे.

यह प्रस्तुतियां उन विश्व प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा दी जाएगी जो पूर्व में पौराणिक धारावाहिकों और फिल्मों में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके है.

इनमें श्रीराम का किरदार तमिल फिल्मों के अभिनेता सुनील शर्मा, टेलीविजन की ख्यात अभिनेत्री परिधि शर्मा सीता का किरदार निभाएंगी.

वहीं टेलीविजन के अभिनेता व गायक देवर्ष नागर लक्ष्मण का और हनुमान का किरदार फिल्म अभिनेता बिंदु दारा सिंह निभाएंगे. इसके अलावा रावण का मुख्य किरदार प्रसिद्ध अभिनेता और बुलंद आवाज के धनी पुनीत इस्सर करेंगे.

सात दिनों तक चलने वाली प्रस्तुतियों के पहले दिन शिव विवाह, रावण का विश्व विजय, श्री राम जन्म, गुरु विश्वामित्र-दशरथ संवाद दिखाया जाएगा.

अगले दिन ताड़का वध, अहिल्या उद्धार, वाटिका प्रसंग, धनुष यज्ञ, रावण-वाणासुर संवाद, लक्ष्मण-परशुराम संवाद का मंचन होगा.
6 अप्रैल को श्री राम बारात, श्री राम राज्य की घोषणा, कैकई-मंथरा संवाद, दशरथ-कैकई संवाद, श्री राम वन गमन दिखाया जाएगा. 7 अप्रैल को श्री राम-निषादराज मिलन, केवट प्रसंग, दशरथ देवलोक गमन, भरत-कैकई संवाद का मंचन होगा.

वहीं 8 अप्रैल को भरत मिलाप, सीता हरण, जटायु गमन, शबरी को नवधा भक्ति का दान और 9 अप्रैल को श्री राम-हनुमान मिलन, श्री राम-सुग्रीव मैत्री, बालि वध, हनुमान-रावण संवाद, लंका दहन का मंचन होगा. रामनवमी पर  सेतुबंध, रामेश्वर स्थापना, रावण-अंगद संवाद, कुंभकरण, मेघनाद और रावण वध, श्री राम का राज्याभिषेक कर लीला का समापन होगा.

निवाड़ी कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी ने बताया कि राम नवमी पर्व को हमारे यहां ओरछा के गौरव दिवस के रूप में मनाया जा रहा है. जिसमें सात दिवसीय रामलीला में देश के बड़े कलाकार राम ,लक्ष्मण ,सीता ,रावण और हनुमान का किरदार निभा रहे है.

वहीं ओरछा के मुख्य मंदिरों और ऐतिहासिक इमारतों को दूधिया रोशनी से सराबोर किया जाएगा. राम राजा सरकार की नगरी ओरछा में उनके जन्मोत्सव को सबसे महत्वपूर्ण तरीके से मनाने की तैयारी है.
Spread the love
More from Religion newsMore posts in Religion news »
%d bloggers like this: